कार्टूनिस्ट गणेश चन्द्र डे को आर्टिस्ट रेसीडेंसी, कोरोना काल मे अस्थाना आर्ट फ़ोरम एक और पहल

कोरोना काल मे जहाँ हर व्यक्ति इस महामारी का शिकार बना हुआ है सबसे बड़ी जो संकट की स्थिति है वह आर्थिक रूप से। और इस संकट की घड़ी में सबसे ज्यादा कला से जुड़े स्वतंत्र कलाकार वर्ग परेशान है। जिनके लिए एक मात्र जीवन जीने का साधन ही उनकी कला है। वैसे भी कला के लिए लोग सबसे अंत मे ही सोचते हैं। जब हर चीज से परिपूर्ण हो जाते हैं। बहरहाल कला जीवन की सबसे बड़ी जरूरत है चाहे कोई भी विधा हो।

आज का ऐसा समय जो लोगों को एक साथ एक स्थान पर इकट्ठा होना भी सम्भव नहीं ऐसे में कला की कोई गतिविधि हो ही नहीं सकती। जैसे प्रदर्शनी, वर्कशॉप,डेमोंस्ट्रेशन, बातचीत आदि। बहरहाल आए दिन ऑनलाइन बहुत सी गतिविधियों को अंजाम दिया जा रहा है, लेकिन जो इस माध्यम के जानकार है उनके लिए ही यह भी सम्भव है। बहुत से ऐसे कलाकार हैं जिन्हें इस माध्यम की जानकारी ही नहीं उनके लिए यह परेशानी का कारण है।

कार्टूनिस्ट गणेश चन्द्र डे
कोरोना काल मे अस्थाना आर्ट फ़ोरम एक और पहल

ऐसी ही संकट की घड़ी में पिछले 4 महीने से अस्थाना आर्ट फोरम जो अपने ऑनलाइन क्रिएटिव वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर मौका दिया और निरंतर दे रहा है। जिसमे वर्कशॉप, स्टूडिओं विजिट, कलाकार से मिलिए, कलाकार स्मृति श्रृंखला, पेंटिंग कैम्प और आर्टिस्ट रेसिडेंसी आदि। 

जिसके माध्यम से इस कोरोना काल मे अपने अपने स्टूडिओं मे बैठे कलाकारों को मदद पहुचा रहे हैं साथ ही कलाकारों को प्रोत्साहित भी कर रहे हैं। यह एक मुहिम की तरह कार्य किया जा रहा है। जिसमे अब तक 10 कलाकारों के वर्कशॉप,7 कलाकारों के आर्टिस्ट कैम्प, 4 कलाकारों के स्टूडिओं आर्टिस्ट प्रेजेंटेशन और एक रेसिडेंसी कार्यक्रम हुए। जो ऑनलाइन माध्यम से अस्थाना आर्ट फ़ोरम के मंच पर हो रहा है।

कार्टूनिस्ट गणेश चन्द्र डे
समाज के विभिन्न वर्गों को कला और कलाकारों से जोड़ने की मुहिम

कार्टिस्ट एवं क्यूरेटर भूपेंद्र कुमार अस्थाना ने बताया कि अपने अगले श्रृंखला में आर्टिस्ट रेसिडेंसी कार्यक्रम किया जा रहा है। जिस माध्यम से जरूरत मंद कलाकारों को मदद किया जा सके। साथ ही उनके कला को भी प्रोत्साहन मिल सके। इस श्रृंखला में पहली रेसिडेंसी वरिष्ठ कार्टूनिस्ट गणेश चन्द्र डे (उम्र.66 वर्ष) को दिया गया है। जिन्होंने अपने इस कला के जरिये बहुत काम किया है और आज भी उम्र के ऐसे पड़ाव में भी कार्य कर रहे हैं। जिनके जीविका का एक मात्र साधन ही यह है। कोरोना काल मे इन्हें काफी समस्या हुई है। जिसको देखते हुए इन्हें इस कार्यक्रम के माध्यम से मदद करना है।

हमारे इन सभी मुहिम में हम सबके बीच से ही लोगों से अपना विशेष योगदान दिया और दे रहे हैं। अस्थाना आर्ट फ़ोरम इस मुहिम के माध्यम से समाज के लोगों को कला से जोड़ने का भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

आपसे भी अनुरोध है कि जो भी हमारे इस मुहिम से जुड़कर कलाकारों को सहयोग करना चाहते हैं। वे अवश्य जुड़ें। ताकि किसी ख़ास वर्क तक ही नहीं बल्कि समाज के हर वर्ग तक कला को पहुँचाया जा सके।

error: